Shraddh Vidhi Pujan / श्राद्ध विधि पूजन महत्त्व

Shraddh Vidhi Pujan
श्राद्ध विधि पूजन


Shraddh Vidhi, श्राद्ध विधि :- आसौज लगते ही पूर्णमासी से श्राद्ध चालू हो जाते हैं और अमावस्या तक रहते हैं। इसे श्राद्ध-यज्ञ कहते हैं।

श्राद्ध विधि :-

इसमें अपने पितरों की शांति के लिए ब्राह्मण व् ब्राह्मणियों को सुन्दर-सुन्दर भोजन कराकर दक्षिणा देते हैं। फिर पितरों को जल तर्पण करते हैं। यदि किसी पुरुष का श्राद्ध हो तो ब्राह्मण को भोजन कराकर धोती, गमछा और दक्षिणा देकर विदा कर दें और यदि स्त्री का श्राद्ध हो तो ब्राह्मणी को भोजन कराकर साड़ी तथा दक्षिणा देकर विदा कर दें।

खीर, पूरी, इमरती भोजन कराने से पितर बहुत तृप्त होते हैं।

इसे भी पढ़ें :–

Leave a Comment

error: Content is protected !!