Shanidev Ji Ki Aarti / श्री शनिदेव जी की आरती

Shri Shanidev Ji Ki Aarti
श्री शनिदेव जी की आरती


जय जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी,
सूर्य पुत्र प्रभुछाया महतारी ।। जय जय जय शनि देव. ।।

श्याम अंग वक्र-दृष्टि चतुर्भुजा धारी,
नीलाम्बर धार नाथ गज की अवसारी ।। जय. ।।

क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी,
मुक्तन की माल गले शोभित बलिहारी ।। जय. ।।

मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी,
लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी ।। जय. ।।

देव दनुज ऋषि मुनी सुमिरत नर नारी,
विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी ।। जय. ।।

जय जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी,
सूर्य पुत्र प्रभुछाया महतारी ।। जय. ।।

अवश्य पढ़ें :-

Leave a Comment

error: Content is protected !!