Aarti Ki Puja Vidhi / आरती की पूजा विधि

Aarti Ki Puja Vidhi Aur Mahattva

Aarti Ki Puja Vidhi Aur Mahattva, आरती की पूजा विधि और महत्त्व- आरती किसी भी देवी-देवता के भजन, कीर्तन और पूजा के अंत में किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण कर्म है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार इसे पूजा-पाठ आदि का अहम अंग बताया गया है। ऐसी मान्यता है कि न केवल आरती करने, बल्कि इसमें शामिल होने पर भी बहुत पुण्य मिलता है। आरती पूजन के अंत में इष्टदेवता की प्रसन्नता हेतु की जाती है। इसमें इष्टदेव को दीपक दिखाने के साथ उनका स्तवन तथा गुणगान किया जाता है यह देवता के गुणों की प्रशंसा गीत है।

error: Content is protected !!